जहरीली हवा |

जहरीली हवा -


जीने के लिए हवा सबसे जरुरी है | वो भी शुद्ध हवा | सुना ही है न, चैन की साँस | लेकिन अब वो नहीं रही | जी हाँ | अब हवा, हवा नहीं रही | अब यह हव्वा है |...जीवन लील लेने वाला धुआं है |....हमने ही किया सब | किसका दोष |....गाड़ियों की भरमार | कारखानों का जाल | पेड़ों की बलि | क्या क्या गिनाएं |....इंसानी हरकतों की फेहरिस्त लम्बी है |

जहरीली हवा |

...नतीजा क्या | हवा में घुलते जहर | कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बन मोनो ऑक्साइड, सल्फर आदि आदि | सांस के साथ फेफड़ों में चले जाते है |...फिर शुरू होता है अस्थमा, लंग्स कैंसर, बीपी, | और भी कई  डिजीज |..आखिर कम उम्र में मौत |...ये मैं नहीं कह रहा जनाब |..ये बताया है पर्यावरणीय क्षेत्र में काम करने वाली प्रमुख स्वयंसेवी संस्था सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट ( सी.इस.ई ) ने | इसने अपनी ताजा रिपोर्ट में बताया है कि वायु प्रदूषण भारत में स्वास्थ्य सम्बन्धी सभी खतरों में मौत का तीसरा सबसे बड़ा कारण बन गया है |... वायु में घुल रहे पीएम 2.5 कण | ओजोन | घर के भीतर के प्रदूषण | आदि का सामूहिक प्रभाव है यह |

👉remedies for hair in hindi👈


...इस सामूहिक प्रभाव की वजह से भारत सहित दक्षिण एशियाई देशों के लोगों की जीवन प्रत्याशा ढाई साल कम रह गई है | यह दुनिया भर में कम हो रही जीवन प्रत्याशा के आंकड़ों से डेढ़ गुना अधिक है | .....अब भी नहीं सुधरेंगे | ....हर बार कोई न कोई शोध आगाह करता रहा है | ...मगर हमारी आँखे आधुनिक्ता की अंधी दौड़ में बंद हो गई है |

जहरीली हवा |

दिखता नहीं | हम वातावरण को कितना दूषित कर रहे हैं | ...आने वाली पीढ़ी को | अपने बच्चों को हम क्या दे रहे हैं | ...जहरीली  हवा | ...दिल्ली जैसे शहर में बच्चे साँस की बीमारियों में जकड़े हैं | ..हम बस सुविधाओं के मोह में जुटे हैं | कोई चिंता नहीं है | ...घर में जितने सदस्य हैं उतने वाहन हैं | ....सार्वजनिक यातायात व्यवस्था से अलर्जी है | ...साइकिल एटिट्यूड के विपरीत है कौन चलाए |


 ...सरकार को मुनाफे की पड़ी है | हर खेत में फैक्ट्री लगनी चाहिए। ...पेड़ आँखों दिखे नहीं सुहाते | ...कुल्हाड़ी हर दम हाथ में है | बस काट डालो पेड़ | एसी, रेफ्रिजेटर अधिक से अधिक यूज करेंगे | इनसे निकली सीएफसी पदार्थ का दुष्प्रभाव पता है | फिर भी अनदेखा किए जा रहे हैं | ....ये हरकते हमारे जीवन के अस्तित्व पर संकट के बादल हैं | ....समझना होगा | जागना होगा | ...सरकार को भी | आम आदमी को भी | सबकी साझा जिम्मेदारी है | ....अब नहीं तो कभी नहीं |

जहरीली हवा |

 ...शुरुआत घर से करनी होगी | ...प्रण लें कि घर में ऐसी कोई वस्तु नहीं जलाएंगे जिससे हवा प्रदूषित हो | ...फिर गाड़ी का उपयोग सीमित करना शुरू करें | ...इलेक्ट्रिक वाहनों पर निर्भरता बढ़ानी होगी | ...इनका उत्पादन और वितरण सरकार सुनिश्चित करें | ...व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए | ...बातें बहुत सी हैं | ...अमल करें तो | जीना है तो सुधरना पड़ेगा | अन्यथा घर में नहीं अस्पताल में रहना पड़ेगा |

इन्हें भी पढ़ें :- 

रूखी त्वचा से छुटकारा कैसे पाएं

 

Post a Comment

0 Comments